आयुर्वेद में 10 सबसे बड़े Neem ki datun karne ke fayde?

Neem ki datun karne ke fayde? दांतो को स्वस्थ रखना बहुत जरूरी है क्योंकि जीवन जीने के लिए दांतो का बहुत बड़ा महत्व होता है। इसीलिए दांतों को स्वस्थ रखना हर व्यक्ति की स्वयं जिम्मेदारी होती है।

तो अगर आप भी दांतों को स्वस्थ और हमेशा मजबूत रखना चाहते हैं तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

यहां आपको बताया है? Neem ki datun karne ke fayde के बारे में साथ में आपको दातुन कितनी देर करना चाहिए? और datun karne ka tarika क्या है? यह सब जानने को मिलेगा समय न लेते हुए आइए पढ़ना शुरू करते हैं?

Neem ki datun
Neem Ki Datun

Neem ki datun karne ke fayde?

नीम की दातुन करने के अनेक फायदे है। यहां आपको 10 बड़े Neem ki datun karne ke fayde? के बारे में विस्तार में बताया हैं।

नीम का दातुन करने के यें है फायदे
सवसे पहले आपके आंतो और खून की सफाई हो जाती है,
और आपके मसूड़ों की मजबूती बढ़ जाती है,

1. नीम की टहनी से दातुन करने पर आपके दातों को मजबूती प्राप्त होती हैं आपके दांत मजबूत होते हैं।

2. पायरिया आपके मुंह से खत्म हो जाता है? अगर आप रोज नीम से दातुन करते हैं तो आपके मुंह में पायरिया की शिकायत नहीं रहेगी! पायरिया जब किसी व्यक्ति को होती है तो उसके मुंह में बदबू आने लगती है! लेकीन दातुन करने पर आपके मुंह से बदबू आना खत्म हो जाएगी।

3. तीसरा नीम की टहनी से दातुन करने का सबसे बड़ा फायदा यह! कि आपके दांतों का पीलापन खत्म हो जाता है! आपके दांतों का पीलापन समाप्त हो जाता है, और आपके दांत सफेद दिखने लगते हैं!

4. अगर आपके मुंह के अंदर मसूड़े फूलने की बीमारी है। और आपके मुंह में पस इकट्ठा हो जाता है! गंदा मेल इकट्ठा हो जाता है! खून जमने लगता है तो नीम की टहनी से दातुन करने से आपको इस बीमारी से भी निजात मिल जाएगी!

और नीम से दातुन करने पर आपके दातों के मसूड़े मजबूत होने लगेंगे! साथ में आपके मसूड़ों का फूलना मसूड़ों में पस पड़ना इसकी भी शिकायत समाप्त हो जाएगी!

5. दांतों में कीड़ों का पैदा होना बंद हो जाएगा क्योंकि नीम का पेड़ किटाणुनाशक हैं! अगर आपके दांतों में कीड़े पड़ते हैं, और आप दांतों में से कीड़ों को डॉक्टर से निकलवाते हैं!

और फिर से आपके दांतों में कीड़े पैदा हो जाते हैं! तो आपको नीम का दातुन इस्तेमाल करना चाहिए आपके दांतो से कीड़ा हमेशा हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा! अगर आप दातुन का इस्तेमाल करेंगे!

Neem Ki Datun Ke Fayde

6. आपने अपने जीवन में देखा होगा किसी का झठा खा लेने से या गर्मी के कारण से मुंह में व्यक्ति के छाले हो जाते हैं! तो इस बीमारी से भी नीम आपको छुटकारा दे सकता है!

जब आप नीम की टहनी से दातुन करते हैं तो उसका कुछ तेल निकलता है जो आपके पूरे मुंह में फैल जाता है और उसी तेल से जीव के छाला ठीक हो जाता है!

7. नीम की दातुन करने पर दांतो के साथ में आंखों को और मस्तिष्क को भी बहुत फायदे होते हैं। जैसे कि आंखों का तेज पन बढ़ता है!

8. और आठवां नीम की दातुन करने का फायदा यह कि आप जब नीम का दातुन करते हैं! तो उसमें रस निकलता है तो नीम के रस में एक बैक्टीरिया पाया जाता है जो आपके पेट में जाने के बाद कैंसर जैसी बीमारी को होने से रोकता हैं!

9. रोजाना नीम का दातुन करने से आपके दांतों की सफाई के साथ में आपके आतो की और खून की भी सफाई हो जाती है, जिससे आपके शरीर पर और आपके मुंह पर दाने बनन बंद हो जाते है।

10. नीम की दातुन करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपके शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ जाती हैं। जिससे आपके शरीर में रोग कम होते हैं।

उम्मीद हैं आपको समझ आया होगा अब में आपको बताऊंगा दातुन कितने प्रकार के होते हैं।

दातुन कितने प्रकार के होते हैं? (Types of datun in hindi)

दातुन अनेक प्रकार के होते हैं नीम के भी अलावा बहुत प्रकार के दातुन पाए जाते हैं जैसे की जामुन, महुआ, करंज, अपामार्ग, बेर, शीशम, करंज, बरगद, आदि शामिल हैं।

बबूल की दातुन करने के फायदे

आयुर्वेद के मुताबिक बबूल का दातुन आपके दांतों को चमकाता है, साथ में बौद्घिक क्षमता को और स्मरण शक्ति को भी बढ़ाता हैं। और बबूल का दातुन मसूड़ों और दांतों को भी मजबूत करता है,

दांतों में पायरिया होने से रोकता है मुंह से बदबू नहीं आती है लेकिन ध्यान रहे बबूल का दातुन करते समय जो रस निकलता है उसे थूकना नहीं चाहिए बल्कि उसे आपको निगल लेना चाहिए।

किस पेड़ की दातुन अच्छी होती है

वैसे तो नीम की टहनी से दातुन करना सबसे ज्यादा फायदेमंद माना जाता है लेकिन इसके अलावा आप बबूल, और बेर के पेड़ की टहनी से भी कर सकते हैं इससे भी बहुत फायदे मिलते हैं।

Neem Ka Ped
नीम का पेड़
Datun karne ka tarika

दातुन तो बहुत लोग करते हैं लेकिन सही तरीका पता ना होने के कारण वह फायदे प्राप्त नहीं कर पाते। आइए हम आपको दातुन करने का सही तरीका बताते हैं।

सबसे पहले 8 इंच की दातुन की टहनी को चाकू की मदद से काट लें! और दोनों किनारे बराबर कर लें।

उसके बाद आपको दातुन की एक हिस्से को पकड़ना है! और एक हिस्से पर 1 इंच तक खाल को काटकर अलग कर देना है!

यह काम कर लेने के बाद आपको दातुन को अच्छी तरीके से ताजी पानी से धो लेना है! ताकि कोई भी कीटाणु अगर लगा हो तो वह साफ हो जाए!

अगर आप दातुन को दोबारा से इस्तेमाल कर रहे हैं! आपने पहले एक बार दातुन कर लिया है तो उसे गर्म पानी से धोए अन्यथा आप पहली बार करने पर ताजी पानी से धोएं!

दातुन को अच्छी तरीके से धो लेने के बाद आपको पानी को कपड़े से साफ कर लेना है! और जिस हिस्से की खाल को काटकर अलग किया था उस हिस्से को आपको दांतो से हल्के हल्के चबाना हैं।

दातुन चबाने के बाद उस टहनी में ब्रश के तरह उसमें रेशे बन जाएंगे।

अब आपका दातुन बनकर तैयार हो जाएगा। आप अब उस टहनी से दातुन कर सकते हैं।

दातुन कितनी देर करनी चाहिए

किसी भी लकड़ी का दातुन बनाकर जब आप पहली बार दातुन करोगे! तो आपके मसूड़ों में खून आने लगेगा। इसलिए पहली बार आपको सिर्फ 2 से 3 मिनट ही दातुन करना है।

लेकिन रोजाना आपको खाली पेट दातुन करने की आदत डालना है।

उसके बाद आपको धीरे-धीरे समय बड़ा लेना है।

निष्कर्ष

दोस्तो दातुन का इस्तेमाल हमारे बुजुर्ग किया करते थे! जिसके कारण हमारे बुजुर्गों के आज भी दांत मजबूत हैं! लेकिन अगर आप भी अपने दांतो को बुजुर्गों की तरह मजबूत करना चाहते हैं तो आपको हमने इस पोस्ट में पूरी जानकारी दी है। दातुन के बारे में जैसे की Neem ki datun karne ke fayde क्या है?

और Neem ki datun karne ka tarika क्या है? दातुन कितने प्रकार के होते हैं? Types of datun in hindi दातुन कितनी देर करनी चाहिए? विस्तार में आपको समझाया है! उम्मीद है आपको जानकारी पसंद आई होगी!

अगर आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें! ताकि दूसरों का भी फायदा हो जाय आर्टिकल पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद।

नीम की दातुन खरीदने के लिए Buy Now पर क्लिक करें।

इसे भी पढ़ें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *